झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना 2021: ऑनलाइन पंजीकरण, लाभ और विशेषता

Uncategorized

साइबर अपराध निवारण योजना ऑनलाइन पंजीकरण | झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना फॉर्म | झारखंड साइबर अपराध निरोधक योजना | साइबर अपराध रोकथाम योजना के लाभ और सुविधाएँ

देश भर में साइबर क्राइम बहुत तेजी से बढ़ रहा है। इस स्थिति में साइबर अपराध को रोकने के लिए सरकार द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं। साइबर क्राइम की बढ़ती दर को देख झारखंड सरकार झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना की पहल की गई है। इस लेख के माध्यम से हम आपको झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं जैसे कि झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना क्या है ?, इसके लाभ, उद्देश्य, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। दोस्तों अगर आप झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना 2021 यदि आप इससे संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपसे अनुरोध है कि इस लेख को अंत तक पढ़ें।

झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना 2021

यह योजना 17 दिसंबर 2020 को झारखंड सरकार द्वारा शुरू की गई थी। इस योजना के माध्यम से, झारखंड सरकार महिलाओं और बच्चों को साइबर अपराध से बचाने का प्रयास करेगी। झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना 2021 ऑनलाइन साइबर अपराध पंजीकरण, क्षमता निर्माण, जागरूकता निर्माण और अनुसंधान और विकास इकाइयों को शुरू करने का लक्ष्य रखा गया है। झारखंड सरकार द्वारा पुलिस के आधुनिकीकरण पर विशेष जोर दिया जा रहा है। इस योजना के तहत, सभी पुलिस अधिकारियों को बढ़ते साइबर अपराध से निपटने के लिए एक मजबूत व्यवस्था बनाने का निर्देश दिया गया है।

साइबर अपराध रोकथाम योजना

विवाह सेवा योजना

झारखंड साइबर अपराध रोकथाम योजना की जरूरत

झारखंड में पिछले 5 वर्षों में 4803 साइबर अपराध दर्ज किए गए हैं। जिनमें से 1536 मामलों का निपटारा किया गया है। इस महीने, झारखंड में 355 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। इन सभी साइबर क्राइम मामलों से बचने के लिए, यह योजना सरकार द्वारा शुरू की गई है। महिलाओं और बच्चों को साइबर अपराध से बचाने के लिए झारखंड सरकार झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना 2021 शुरू हो गया है। झारखंड सरकार यह भी सुनिश्चित करेगी कि विभिन्न स्कूलों में छात्रों को सामुदायिक पुलिसिंग के लिए प्रशिक्षण प्रदान किया जाए। इस प्रशिक्षण के बाद, बच्चे साइबर सेल में पुलिस की मदद करेंगे। प्रशिक्षण के लिए प्रत्येक जिले से दस स्कूलों की पहचान की जाएगी। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद बच्चे साइबर क्राइम से भी खुद को बचा पाएंगे।

मुख्य विचार झारखंड साइबर अपराध रोकथाम योजना 2021 की

योजना का नाम झारखंड साइबर अपराध रोकथाम योजना
किसने लॉन्च किया झारखंड सरकार
लाभार्थी झारखंड के नागरिक
उद्देश्य साइबर अपराध को रोकें
आधिकारिक वेबसाइट जल्द ही लॉन्च किया जाएगा
साल 2021

झारखंड साइबर अपराध निरोधक योजना का उद्देश्य

झारखंड साइबर अपराध रोकथाम योजना कार्यक्रम शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य में बढ़ते साइबर अपराध को रोकना है। इस योजना के माध्यम से पुलिस के आधुनिकीकरण पर जोर दिया जाएगा। ताकि वह राज्य के नागरिकों को साइबर अपराध से बचा सके। राज्य के बच्चों को झारखंड साइबर अपराध रोकथाम योजना के तहत सामुदायिक पुलिसिंग का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। ताकि बच्चे साइबर क्राइम से होने वाले अपराधों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें और भविष्य में इससे बच सकें। इस योजना के तहत प्रशिक्षित बच्चे भी पुलिस की साइबर सेल की मदद कर सकते हैं।

महिलाओं और बच्चों के लिए साइबर अपराध रोकथाम के 5 घटक

  • ऑनलाइन साइबर क्राइम रिपोर्टिंग यूनिट
  • फोरेंसिक यूनिट
  • क्षमता निर्माण इकाई
  • अनुसंधान और विकास इकाई
  • जागरूकता निर्माण इकाई

ऑनलाइन साइबर क्राइम रिपोर्टिंग यूनिट

साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल को ऑनलाइन साइबर क्राइम रिपोर्टिंग के लिए लॉन्च किया गया है। जो CCTNS प्रोजेक्ट का हिस्सा है। इस पोर्टल के माध्यम से साइबर अपराध को लागू किया जा सकता है। यह इकाई साइबर अपराध से संबंधित जानकारी के लिए राष्ट्रीय, राज्य और स्थानीय स्तर पर कानून प्रवर्तन और नियामक एजेंसी के संदर्भ में एक केंद्रीय भंडार प्रदान करेगी। ऑनलाइन साइबर क्राइम रिपोर्टिंग प्लेटफॉर्म के विकास के लिए भी यूनिट जिम्मेदार होगी। यह इकाई फोरेंसिक प्रयोगशालाओं के साथ मिलकर काम करेगी।

फोरेंसिक यूनिट

एक राष्ट्रीय साइबर फोरेंसिक प्रयोगशाला संचालित की जाएगी। जो सप्ताह में 24 घंटे और साल में 365 दिन काम करेगा। इस इकाई में सभी नवीनतम फोरेंसिक उपकरण सेटअप किए जाएंगे। सभी केंद्रीय, राज्य, केंद्र शासित प्रदेशों के साथ-साथ केंद्रीय और राज्य फोरेंसिक प्रयोगशालाओं का उपयोग किया जा सकता है यदि आवश्यक हो। इस इकाई में, देश भर के साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ साइबर क्राइम कानून को ठीक से संचालित करने में मदद करेंगे।

क्षमता निर्माण इकाई

इस इकाई के माध्यम से सभी पुलिस बलों की क्षमता निर्माण, अभियान योजना, न्यायिक अधिकारी और अन्य संबंधित हितधारकों पर काम किया जाएगा। इस इकाई के माध्यम से देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को इस क्षेत्र में अपनी विशेषज्ञता बढ़ाने का अवसर प्रदान किया जाएगा।

अनुसंधान और विकास इकाई

साइबर अपराध के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए इस क्षेत्र में अनुसंधान की आवश्यकता है। अनुसंधान करने के लिए सरकार द्वारा अनुसंधान और विकास इकाई शुरू की गई है। इस इकाई के माध्यम से साइबर अपराध के क्षेत्र में अनुसंधान साइबर अपराध अधिनियम में किया जाएगा। ताकि साइबर क्राइम को रोका जा सके। यह शोध रिसर्च एकेडेमिक इंस्टीट्यूशन के सहयोग से किया जाएगा। अनुसंधान के माध्यम से प्रौद्योगिकी भी विकसित की जाएगी।

जागरूकता निर्माण इकाई

जागरूकता भवन इकाई के माध्यम से लोगों को साइबर अपराध के बारे में जागरूकता फैलाई जाएगी। ताकि इसे जल्द से जल्द रोका जा सके। जब लोग साइबर अपराध के बारे में जागरूक होंगे, तो वे इससे बचने की कोशिश कर सकेंगे। यह जागरूकता स्कूलों के माध्यम से भी फैलाई जाएगी। स्कूलों में, छात्रों को साइबर अपराध से संबंधित जानकारी प्रदान की जाएगी ताकि बच्चे साइबर अपराध से बच सकें। वेब पोर्टल और मोबाइल ऐप के जरिए भी जागरूकता फैलाई जाएगी।

झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना 2021 लाभ और सुविधाएँ

  • झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना 2021 17 दिसंबर 2020 को झारखंड सरकार द्वारा शुरू किया गया था।
  • इस योजना के माध्यम से महिलाओं और बच्चों को साइबर अपराध से बचाने का प्रयास किया जाएगा।
  • झारखंड साइबर अपराध रोकथाम योजना ऑनलाइन साइबर अपराध पंजीकरण, क्षमता निर्माण, जागरूकता निर्माण और अनुसंधान और विकास इकाइयों को शुरू करने का लक्ष्य रखा गया है।
  • इस योजना के तहत पुलिस के आधुनिकीकरण पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।
  • विभिन्न स्कूलों में इस योजना के तहत छात्रों को सामुदायिक पुलिसिंग प्रदान की जाएगी।
  • इस प्रशिक्षण के बाद बच्चे साइबर सेल में पुलिस की मदद कर सकेंगे।
  • प्रशिक्षण के लिए प्रत्येक जिले से दस स्कूलों की पहचान की जाएगी।
  • महिलाओं और बच्चों को साइबर अपराध से बचाने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

झारखंड साइबर अपराध रोकथाम योजना की पात्रता और महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक झारखंड का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • मोबाइल नंबर
  • राशन पत्रिका
  • पहचान पत्र
  • पते का सबूत
  • जन्म प्रमाणपत्र

झारखंड साइबर अपराध रोकथाम योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

अगर तुम झारखंड साइबर अपराध रोकथाम योजना यदि आप के तहत आवेदन करना चाहते हैं, तो आपको अभी कुछ समय के लिए इंतजार करना होगा। यह योजना अभी घोषित की गई है। इस योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया जल्द ही समझाई जाएगी। जैसे ही सरकार झारखंड साइबर अपराध निवारण योजना 2021 इसके तहत, आवेदन करने की प्रक्रिया सक्रिय हो जाएगी, हम आपको इस लेख के माध्यम से निश्चित रूप से बताएंगे। कृपया हमारे इस लेख के साथ जुड़े रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Posts

Uncategorized

✔️ प्रधानमंत्री वय वंदना योजना 2021: ऑनलाइन / ऑफलाइन आवेदन करें

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना 2021 | प्रधानमंत्री वय वंदना योजना आवेदन | वाया वंदना ऑनलाइन आवेदन | वाया वंदना ऑनलाइन फॉर्म | वय वंदना योजना

Uncategorized

✔️ सहकार मित्र इंटर्नशिप योजना 2021: ऑनलाइन पंजीकरण, आवेदन पत्र

सहकार मित्र इंटर्नशिप योजना | सहकार मित्र इंटर्नशिप योजना 2020 | इंटर्नशिप योजना पंजीकरण | इंटर्नशिप योजना ऑनलाइन आवेदन करें | सहकार मित्र योजना ऑनलाइन